SUBSCRIBE

Get latest updates

PUBG Back in India: चीनी पार्टनर कंपनी टेनसेंट से अनुबंध तोड़ा, भारत में जल्द वापसी कर सकता है PUBG

PUBG Back in India

PUBG Back in India: भारत वापसी के लिए पबजी ने लिया बड़ा फैसला; चीनी निवेशक टेंसेंट गेम्स को बाहर करेगी दक्षिण कोरियाई कंपनी. After ban PUBG Ends Ties With China’s Tencent Games For India Franchise.

PUBG Mobile की भारत में वापसी हो सकती है. कोरिया का PUBG Corporation भारत में PUBG Mobile के संचालन की पूरी जिम्‍मेदारी चीन की Tencent Games से लेने वाला है. दक्षिण कोरियन कंपनी पबजी कॉरपोरेशन ने अपने पॉपुलर गेम प्लेयरअननोन बैटलग्राउंड्स (पबजी) को फिर से भारत लाने के लिए कोशिश कर रही है।

कंपनी ने एक ब्लॉग में कहा है कि उसने चीनी कंपनी टेंसेंट गेम्स के पब्लिश राइट्स खत्म कर दिए हैं। पबजी के इस कदम के बाद माना जा रहा है कि वह टेंसेंट गेम्स के साथ इन्वेस्टमेंट समेत बाकी रिलेशन भी खत्म कर सकती है। अब इस बैटल रॉयल गेम के डेवलपर PUBG Corporation ने देश में Tencent Games से इसका संचालन लेने का फैसला किया है. पबजी कॉर्पोरेशन ने स्‍टेटमेंट में कहा है कि वह भारत में पबजी गेम की पूरी जिम्मेदारी खुद लेगा और फैन्स को नए अनुभव देने पर काम करेगा.

भारत सरकार ने पिछले हफ्ते देश में 118 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया था, जिसमें पॉपुलर बैटल रोयल गेम (PUBG) भी शामिल है. बैन को लेकर गेमिंग कम्युनिटी परेशान है.

पबजी कॉरपोरेशन ने कहा कि वह भारत में पबजी मोबाइल और पबजी मोबाइल लाइट पर हालिया बैन के बाद नजर बनाए हुए हैं। कंपनी का कहना है कि पबजी कॉरपोरेशन भारत सरकार की ओर से लगाए गए बैन का सम्मान करती है। प्लेयर्स के डाटा की सुरक्षा कंपनी की प्राथमिकता है। कंपनी ने कहा कि हम भारत सरकार के साथ मिलकर समस्या का समाधान करने पर जुटे हैं ताकि गेमर्स एक बार फिर से भारतीय कानूनों और रेग्यूलेशंस के साथ पबजी का लुत्फ ले सकें।

पबजी दुनिया में सबसे ज्यादा डाउनलोड किए जाने वाले गेम्स की लिस्ट में टॉप-5 में है। सेंसर टॉवर की रिपोर्ट के मुताबिक, दुनियाभर में पबजी को 73 करोड़ से ज्यादा बार डाउनलोड किया गया है। इसमें से 17.5 करोड़ बार यानी 24% बार भारतीयों ने डाउनलोड किया है। इस हिसाब से पबजी खेलने वालों में हर 4 में से 1 भारतीय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked*

This website uses cookies.