पाकिस्‍तान में भारतीय दूतावास के स्‍टाफ को हाथ-पैर बांध कर घंटों पीटा गया

8
Indian High Commission Staff Members Beaten Up By Pakistan With Sticks In Islamabad.
Indian High Commission Staff Members Beaten Up By Pakistan With Sticks In Islamabad.

Indian High Commission Staff Members Beaten Up By Pakistan With Sticks In Islamabad. पाकिस्‍तान में भारतीय दूतावास के स्‍टाफ को हाथ-पैर बांध कर घंटों पीटा गया, गंदा पानी पिलाया.

Indian High Commission Staff Members Beaten Up

  • भारतीय हाईकमीशन के दो कर्मचारियों को 16 लोगों ने अगवा किया था; रॉड-डंडों से पिटाई की गई, एक्सीडेंट कबूलने को मजबूर किया.
  • इस्‍लामाबाद में भारतीय दूतावास (Indian embassy in Islamabad) के दो कर्मचारियों को अगवा कर उनसे करीब छह घंटे तक पूछताछ की गई। पीने को बेहद गंदा पानी दिया गया।

  • दोनों कर्मचारी हाईकमीशन में ड्राइवर हैं, उन्हें इस्लामाबाद के एक पेट्रोल पंप से अगवा किया गया
  • दोनों की आंखों पर पट्टी बांधकर उन्हें अनजान जगह ले जाया गया, दूसरे कर्मचारियों से ऐसे ही सलूक की धमकी दी गई
  • भारत के दबाव के बाद इन्हें शाम को छोड़ दिया गया। इसके पहले उन्हें टिटेनस का इंजेक्शन भी लगाया गया। धमकी दी गई कि बाकी कर्मचारियों के साथ भी यही सलूक किया जाएगा।
  • सोमवार सुबह 8.30 बजे के करीब, दोनों स्टाफ को दूतावास के पास स्थित एक पेट्रोल पंप से उठाया गया था। छह गाड़‍ियों में हथियारों से लैस 15-16 लोग आए थे। कर्मचारियों के हाथ बांध दिए गए और आंखों पर पट्टी डाली गई। करीब 10 मिनट की दूरी पर स्थित किसी जगह ले जाकर उनसे करीब छह घंटे तक पूछताछ की गई। दोनों चल तो पा रहे थे मगर गर्दन, चेहरे और जांघ पर चोट के निशान हैं। मेडिकल एग्‍जामिनेशन में किसी जानलेवा चोट का पता नहीं चला है।
  • इस्‍लामाबाद पुलिस ने दोनों भारतीय स्‍टाफ को फंसाने का पूरा इंतजाम कर रखा था। एचटी ने एक एफआईआर देखी है जिसमें दावा किया गया कि इन दोनों की कार से 10,000 पाकिस्‍तानी रुपये मूल्‍य वाली फर्जी करंसी मिली है। पाकिस्‍तानी मीडिया में दावा किया गया कि भारतीय कर्मचारियों को इसलिए अरेस्‍ट किया गया है क्‍योंकि उनकी कार एक राहगीर से टकरा गई थी। इसी नैरेटिव को पुश करने के लिए किडनैपर्स ने दबाव डालकर दोनों कर्मचारियों से वीडियो पर यह बुलवाया कि उनसे एक्‍सीडेंट हुआ है।
  • दोनों कर्मचारियों को धमकाया गया कि आगे से हाई कमिशन के लोगों का यही हाल होगा। उन्‍हें रात करीब 9 बजे भारतीय दूतावास को वापस सौंपा गया। यह हरकत जवाबी कार्रवाई के रूप में देखी जा रही है। भारत ने 31 मई को पाकिस्‍तानी उच्‍चायोग के दो कर्मचारियों को जासूसी करते रंगेहाथ पकड़ा था। इसके बाद उन्‍हें 24 घंटों के भीतर पाकिस्‍तान वापस भेज दिया गया था।

Source 1

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here