गालवन के 20 शहीदों के नाम, Names of 20 Martyred Indian Army Jawans

0
59
गालवन के 20 शहीदों के नाम, Names of 20 Martyred Indian Army Jawans
गालवन के 20 शहीदों के नाम, Names of 20 Martyred Indian Army Jawans

गालवन के 20 शहीदों के नाम / चीन के साथ हिंसक झड़प में शहीद हुए 20 सैनिक 6 अलग-अलग रेजिमेंट के, सबसे ज्यादा 13 शहीद बिहार रेजिमेंट के. गलवान घाटी में देश के लिए जान देने वाले 20 जवानों के नामों को भारतीय सेना ने जारी कर दिया है. चीन के साथ जारी विवाद के दौरान दोनों देशों के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई थी. Names of 20 Martyred Indian Army Jawans are mentioned below.

Names of 20 Martyred Indian Army Jawans

किस रेजिमेंट से कितने शहीद

  • 16 बिहार रेजिमेंट: 12 शहीद
  • 3 पंजाब रेजिमेंट: 3 शहीद
  • 3 मीडियम रेजिमेंट: 2 शहीद
  • 12 बिहार रेजिमेंट: 1 शहीद
  • 81 माउंट बिग्रेड सिग्नल कंपनी: 1 शहीद
  • 81 फील्ड रेजिमेंट: 1 शहीद

16 बिहार रेजिमेंट: 12 शहीद

  • सिपाही कुंदन कुमार – सहरसा, बिहार
  • सिपाही अमन कुमार – समस्तीपुर, बिहार
  • दीपक कुमार – रीवा, मध्यप्रदेश
  • सिपाही चंदन कुमार – भोजपुर, बिहार
  • सिपाही गणेश कुंजाम – सिंहभूम, पश्चिम बंगाल
  • सिपाही गणेश राम – कांकेर, छत्तीसगढ़
  • सिपाही केके ओझा – साहिबगंज, झारखंड
  • सिपाही राजेश ओरांव – बीरभूम, पश्चिम बंगाल
  • सिपाही सीके प्रधान – कंधमाल, ओडिशा
  • नायब सूबेदार नंदूराम – मयूरभंज, ओडिशा
  • हवलदार सुनील कुमार- पटना, बिहार
  • कर्नल बी. संतोष बाबू – हैदराबाद, तेलंगाना

3 पंजाब रेजिमेंट: 3 शहीद

  • सिपाही गुरतेज सिंह – मनसा, पंजाब
  • सिपाही अंकुश – हमीरपुर, हिमाचल प्रदेश
  • सिपाही गुरविंदर सिंह – संगरूर, पंजाब

3 मीडियम रेजिमेंट: 2 शहीद

  • नायब सूबेदार सतनाम सिंह – गुरदासपुर, पंजाब
  • नायब सूबेदार मनदीप सिंह – पटियाला, पंजाब

12 बिहार रेजिमेंट: 1 शहीद

  • सिपाही जयकिशोर सिंह – वैशाली, बिहार

81 माउंट बिग्रेड सिग्नल कंपनी: 1 शहीद

  • हवलदार बिपुल रॉय  – मेरठ, उत्तरप्रदेश

81 फील्ड रेजिमेंट: 1 शहीद

  • हवलदार के. पालानी – मदुरै, तमिलनाडु

  • बता दें कि इस घटना के बाद देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी सभी सैनिकों को सलाम किया है. बुधवार को राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर लिखा, ‘..गलवान घाटी में सैनिकों को खोना दर्दनाक है. हमारे सैनिकों ने अपना फर्ज निभाते हुए देश के लिए जान दे दी. देश उनके बलिदान को कभी नहीं भूलेगा.’
  • रक्षा मंत्री ने लिखा कि शहीद जवानों के परिवारों के प्रति वह सांत्वना प्रकट करते हैं, देश उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है. हमें अपने देश के जवानों पर गर्व है.